भाषा: English Française Español Italiano Deutsch Pусский Português 中文 日本語 हिन्दी Türkçe عربي
आयु:
महत्तम ह्रदय गति:  धडकन प्रति मिनट
आपकी औसत धडकन प्रति मिनट है:
pointer
विराम अवस्था में
तैयारी की अवस्था में
चर्बी का क्षय
सिथरता की अवस्था में
कार्य सम्पादन की अवस्था में
महत्तम

यह वेबसाइट आपको इन्टरनेट के माध्यम से बिना किसी ह्रदय गति मापक यंत्र का प्रयोग कर आपकी ह्रदय गति को धडकन प्रति मिनट के दर पर मापने में मदद करता है। आपकी आयु और महत्तम ह्रदय गति के आधार पर यह आपके ह्रदय गति के प्रशिक्षण के उपभाग को भी निर्धारित करेगा।

प्रयोग करने की विधि?

अपनी ह्रदय गति को मापने के लिए, निम्नलिखित सहज अनुदेशों का पालन करें

  1. अपनी आयु प्रविष्ट करें।
  2. अपने एक हाथ से, अपनी तर्जनी और मध्यमा अगुलियों को अपनी गर्दन के निचले हिस्से पर अपनी श्वास नली के दोनो ओर रखकर अपने धडकन को महसूस करें। धीरे से दबायें जबतक आप धडकन को महसूस ना करें।
  3. अपने दूसरे हाथ से, ह्रदय के प्रतिरूप को उतनी बार किलक करें जितनी बार आप धडकन को महसूस करते हैं। आप अपने कीबोर्ड के स्पेसबार का प्रयोग भी कर सकते हैं।

आपका औसत धडकन प्रति मिनट प्रदर्शित होगा और सूचक आपके वर्तमान प्रशिक्षण के उपभाग को दर्शायेगा।

ह्रदय गति क्या होती है?

ह्रदय गति (या स्पंदन) आपके दिल के एक मिनट में धडकने की संख्या है, जिसे धडकन प्रति मिनट की इकाइ में मुख्य रूप से व्यक्त किया जाता है। आपके दिल की धडकने आपके शरीर के आक्सीजन ग्रहण करने की जरूरत के अनुसार घटती और बढती है। सोते समय आपके दिल की धडकने चलने और दौडने की अवस्था की अपेक्षा कम होती है। कोइ भावुक बदलाव भी आपके दिल की धडकनों को बढा सकता है।

ह्रदय गति का प्रयोग चिकित्सा से सम्बन्ध रखनेवाले पेशेवर लोग रोग की पहचान करने के लिए करते हैं। ऐसे लोग जो अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखते हैं और शारिरिक प्रशिक्षण का अत्यंत लाभ उठाना चाहते है भी इसका प्रयोग करते हैं।

मैं अपने स्पंदन की जाँच किस प्रकार कर सकता हूँ?

अपनी कलाइ पर स्पंदन की जाँच करना अपनी गर्दन पर स्पंदन की जाँच करना

आप अपनी त्वचा के सतह के समीप रहनेवाले रक्त नलियों को धीरे से दबाकर अपनी स्पंदन को महसूस कर सकते हैं। हमेशा अपनी तर्जनी और मध्यमा अँगुलियों का प्रयोग करें, क्योंकि अँगूठा गलत पठन दे सकता है। स्पंदन की जाँच करने के लिए नाडी और गर्दन दो मुख्य अंग हैं।

अपनी गर्दन पर स्पंदन की जाँच करने के लिए आप अपनी तर्जनी और मध्यमा अँगुलियों को अपनी गर्दन के निचले हिस्से पर अपनी श्वास नली के दोनो ओर रखें। धीरे से दबायें जबतक आप धडकन को महसूस ना करें।

अपनी कलाइ पर स्पंदन की जाँच करने के लिए, अपनी हथेली को खोलें। दूसरे हाथ की तर्जनी और मध्यमा अँगुलियों को अपनी कलाइ पर अपनी हथेली के तल से लगभग एक इंच की दूरी पर रखें। दबाते रहें जबतक आप धडकन को महसूस ना करें।

महत्तम ह्रदय गति क्या होती है?

महत्तम ह्रदय गति एक मिनट में आपके दिल की अधिकतम बार धडकने की संख्या है, और यह आपके आयु पर निर्भर करता है। महत्तम ह्रदय गति आपके ह्रदय गति के प्रशिक्षण के उपभाग के निर्धारण के लिए आवश्यक है।

महत्तम ह्रदय गति के मापन का सबसे आसान तरीका है: महत्तम ह्रदय गति = 220 - आपकी आयु

विराम अवस्था की ह्रदय गति क्या होती है?

विराम अवस्था की ह्रदय गति आपकी वो ह्रदय गति है जो आपकी विराम अवस्था में होती है। एक व्यस्क मनुष्य में, विराम अवस्था की ह्रदय गति साधारणतया 60 से 100 धडकन प्रति मिनट होती है। धावकों की विराम अवस्था की ह्रदय गति 60 धडकन प्रति मिनट से कम होती है। अपने विराम अवस्था की ह्रदय गति को मापने के लिए, आपको कम से कम 10 मिनट पहले से विराम अवस्था मे होना चाहिए।

विभिन्न प्रशिक्षण उपभाग क्या है?

ह्रदय गति का प्रशिक्षण उपभाग एक सीमा है जो आपके प्रशिक्षण की तीव्रता को परिभाषित करता है। प्रत्येक उपभाग के उपरी और निचली सीमा का निर्धारण आपके महत्तम ह्रदय गति, जो आपके आयु पर निर्भर करता है, के आधार पर होता है।

सामान्य कि्याकलाप (संधारण / तैयारी): महत्तम ह्रदय गति - 50-60% । यह सबसे आरामदायी प्रशिक्षण उपभाग है। इसका प्रयोग मुख्य रूप से खुद को तैयार करने और एक तीव्र प्रशिक्षण उपभाग से वापसी के लिए किया जाता है। यह आपके दिल को मजबूत करता है और आपके मांसपेशियों को बढाता है जबकि आपके चर्बी, पैत्तव, रक्तचाप और क्षयकारी रोगों के खतरे को घटाता है।

वजन पर नियंत्रण (तंदुरूस्ती / चर्बी का क्षय): महत्तम ह्रदय गति - 60-70% । चर्बी के क्षय के लिए यह सर्वोत्तम प्रशिक्षण उपभाग है। यह आपको सामान्य कि्याकलाप उपभाग के सारे फायदे बढी हुइ तीव्रता के साथ देता है। 85% उर्जा का क्षय इस उपभाग में चर्बी के द्वारा होता है।

वायुजीवी (दिल सम्बन्धी प्रशिक्षण / सिथरता): महत्तम ह्रदय गति - 70-80% । वायुजीवी व्यायाम आपके दिल को ज्यादा कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है जब आपके शरीर को ज्यादा आक्सीजन की जरूरत होती है। यह उपभाग आपके ह्रदवाहिनी और श्वसन तंत्रों को मजबूत करता है। यह आपके दिल के आकार और शकित को भी बढाता है। इस उपभाग में ज्यादा उर्जा का क्षय होता है परन्तु केवल 50% उर्जा का क्षय ही चर्बी के द्वारा होता है।

अवायुजीव (स्थायी प्रशिक्षण): महत्तम ह्रदय गति - 80-90% । इस उपभाग में प्रशिक्षण आपकी बलकारी क्षमता को बढाता है। केवल 15% उर्जा का क्षय इस उपभाग में चर्बी के द्वारा होता है।

महत्तम VO2 (महत्तम प्रयत्न): महत्तम ह्रदय गति - 90-100% । महत्तम VO2 व्यायाम करते समय आपके शरीर के आक्सीजन ग्रहण करने की अधिकतम सीमा है। लोग इस उपभाग में बहुत कम समय तक रह पाते हैं। एक बहुत तंदुरूस्त मनुष्य ही इस उपभाग में ज्यादा देर तक प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है। इस उपभाग में उर्जा का क्षय अधिकतम होता है। याद रखें कि महत्तम ह्रदय गति के आस पास प्रशिक्षण प्राप्त करना आपके लिए घातक हो सकता है।

अन्य संसाधन

स्पष्टीकरण: आनलाइनहर्टरेट डाट काम पर दिए गए तथ्य पेशेवर चिकित्सीय सलाहों को कतइ खारिज नहीं करते। अपनी चिकित्सा सम्बंधी किसी परेशानी के लिए आप अपने चिकित्सक से मशविरा ले सकते हैं।